Aniruddhacharya Ji Maharaj Biography in hindi

Aniruddhacharya Ji महाराज का जीवन परिचय: Age, Son, Wife Caste and Fees 2022

नमस्कार दोस्तों हमारी वेबसाइट पर आपका स्वागत है, आज हम बात करने वाले हैं, अनिरुद्धचार्य जी महाराज के बारे में, आज के इस लेख में हम अनिरुद्ध आचार्य जी महाराज के बारे में संपूर्ण जानकारी जानेंगे और जानेंगे.

Aniruddhacharya ji Maharaj Family, Aniruddhacharya Ji Maharaj Son, Wife, Age, Aniruddhacharya ji maharaj biography, Aniruddhacharya ji maharaj fees.

वर्तमान समय मे अनिरुद्धाचार्य जी महाराज हर घर की शान बन गए हैं, क्योंकि उनकी कथा लगभग हर घर, हर व्यवसाय क्षेत्र में टीवी या मोबाइल के माध्यम से चलता ही रहता है, यह हम सभी को देखने में मिलता है.

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का जन्म 27 सितंबर 1989 में मध्यप्रदेश के दमोह जिले मे रिंवझा नामक गाँव में हुआ है।Aniruddhacharya ji Maharaj एक जाने-माने धार्मिक प्रवचनकर्ता है, अगर आप भक्ति से जुड़े हुए कार्यक्रम देखना पसंद करते हैं, तो आपने इन्हें यूट्यूब चैनल या टीवी पर जरूर देखा होगा.

स्वामी अनिरुद्धाचार्य जी महाराज द्वारा दिए गए प्रवचन को सुनने के लिए लोगों की भीड़ हजारों की संख्या में आती है, और लोग अनिरुद्धाचार्य जी महाराज को देखना भी बहुत ज्यादा पसंद करते है.

Aniruddhacharya ji maharaj द्वारा दिए गए प्रवचन से कईयों के जीवन में अमूल्य परिवर्तन होता है, इनके प्रवचन हमारे लिए प्रेरणा का स्रोत है, और ऐसे महान व्यक्तित्व के जीवन के बारे में जानना हम सबके लिए अति आवश्यक है तो आइए दोस्तो हम जानते हैं इनके जीवन के विषय में.

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का जीवन परिचय | Aniruddhacharya Ji Maharaj biography

वास्तविक नामअनिरुद्धाचार्य जी
प्रसिद्ध नामस्वामी अनिरुद्धाचार्य जी महाराज
जन्म तारिक27 सितंबर 1989
जनम स्थानरिंवझा नामक गावं जबलपुर मध्यप्रदेश
कार्यभागवत कथावाचक
गुरुश्री गिर्राज शास्त्री जी महाराज
रंगरूपगोरा रंग माथे पर लम्बा तिलक और लम्बे बाल

परम पूज्य श्री अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का जन्म 27 सितंबर 1989 को जबलपुर मध्यप्रदेश (भारत) में हुआ था, बताया जाता है कि इनके जन्म स्थान से विष्णु वराह भगवान की नगरी महज 9 किमी की दूरी पर रिंवझा नामक जगह पर है.

जहाँ इनका जन्म हुआ था, इनके बारे में बताया जाता है कि यह बाल्यकाल से ही अपने गांव के ही श्री राधा कृष्ण मंदिर पर नित्य जाकर ठाकुर जी की सेवा पूजा में लगे रहते थे.

पारंपरिक गौ भक्त परिवार के होने की वजह से इनको गौ माता की सेवा करने में बहुत आनंद मिलता था, आज भी यह इस सेवा को जारी रखे हैं। बताया जाता है की महाराज को गौ माता के बछड़ों के साथ खेलना बहुत पसंद है.

जब महाराज छोटे थे तब श्री गाय चराने जाते थे तो अपने साथ हनुमान चालीसा और गीता ले जाते थे, जिसका यह नित्य प्रति सस्वर पाठ किया करते थे, और अपने सहपाठियों से भी इसका पाठ करवाया करते थे.

दोस्तो अनिरुद्धाचार्य जी एक अच्छे कथावाचक हैं, यह अपनी कथाओं के माध्यम से लोगों को अच्छी राह पर चलने को कहते हैं, ताकि देश और समाज का अच्छा विकास हो लोगों की सोच में भगवान की भक्ति हो.

यह अपनी कथा में हमेशा लोगों को भकित के मार्गे पर चलने की सलाह देते है ताकि लोगों को एक अच्छा जीवन जीने का अवसर मिल सके.

अनिरुद्धाचार्य महाराज जी गरीब , असहाय, ओर जरूरतमंदों का सहारा भी बने हुए हैं, इनके बारे में कहा जाता है कि यह अपने संस्थान में गरीब कन्यायों की शादी का कार्यक्रम भी कराते हैं। ताकि गरीब लड़कियों की शादी विवाह आसानी से हो सके और उनका जीवन भी अच्छा बन सके.

अनिरुद्धाचार्य जी की जन्मतिथि एवं उम्र | Aniruddhacharya ji Age & Birthday

दोस्तों जैसा कि हम आपको ऊपर बताए हैं, की अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का जन्म 27 सितंबर 1989 में मध्यप्रदेश के दमोह जिले मे रिंवझा नामक गाँव में हुआ है Aniruddhacharya Ji Maharaj के मन बचपन से ही आध्यात्मिक क्षेत्रों में ज्यादा रहता था.

ऐसा बताया जाता है कि जब यह पारंपरिक गौ भक्त परिवार के होने की वजह से अनिरुद्धाचार्य महाराज को गौ माता की सेवा करने में  काफी ज्यादा आनंद मिलता था.

इसी कारण से अनिरुद्धाचार्य जी ने अनेकों प्रकार के धार्मिक पुस्तक जैसे भगवत गीता, महाभारत, रामायण, जैसे बड़े-बड़े धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन किया है.

दोस्तों हम आपको बता दें कि महाराज अनिरुद्धाचार्य जी को हनुमान चालीसा कंठस्थ याद है, क्योंकि वह हमेशा हनुमान चालीसा जप करते हैं, अनिरुद्धाचार्य जी स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद रहने के लिए वृंदावन चले गए.

जहां अनिरुद्धाचार्य जी ने अपने गुरु संत गिर्राज शास्त्री जी महाराज से दीक्षा प्राप्त की तथा उनके साथ महाराज अनिरुद्ध आचार्य जी  सनातन धर्म का प्रचार करने लगे.

महाराज अनिरुद्धाचार्य जी को बचपन से ही गाय की सेवा-सत्कार करना बहुत ज्यादा पसंद है इसीलिए टीवी पर अक्सर उन्हें देखा गया है कि वे गाय माता की उप्मा देते है.

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का परिवार | Aniruddhacharya Ji Maharaj Son, Wife, Caste

दोस्तों यदि हम अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के परिवार की बात करें तो उनके परिवार में कुल मिलाकर 6 लोग हैं, जिसमें उनकी पत्नी, दो बच्चे और उनके माता-पिता जिसमे अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के पिताजी का नाम श्री अवधेशानंद गिरी है और  उनके पिताजी भागवताचार्य भी रहे है.

इसी के साथ Shri Aniruddhacharya ji के पत्नी भी एक गुरु माता है और वह अनिरुद्धाचार्य जी की तरह प्रवचन देने का कार्य करती है। Aniruddhacharya ji के बच्चे उनके माता पिता के साथ रहते हैं.

दोस्तो अगर हम Aniruddhacharya ji Maharaj की Caste की बात करे तो वह एक पंडित है, ओर Aniruddhacharya ji Maharaj हिन्दू धर्म से बिलोंग रखते है.

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज करियर | Aniruddhacharya Ji Maharaj Career

दोस्तों जैसा कि हम लोग जाने हैं कि अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण उनकी शिक्षा दीक्षा काफी कम है, लेकिन उन्होंने बचपन से कभी भी आध्यात्मिक जीवन को नहीं छोड़ा और जैसा उनको बचपन में आध्यात्मिक मे ज्यादा मन लगता था वैसा उनको आज भी लगता है.

इसलिए Aniruddhacharya Ji Maharaj बचपन में ही वृंदावन आ गए और अपने गुरु के शरण में इन्होंने अनेकों प्रकार के हिंदू धार्मिक ग्रंथों जैसे की रामायण, महाभारत, पुराण और भागवत गीता का अध्ययन किया और  उन्होंने अपने Career की शुरुआत एक कथा और प्रवचन वाचक और भक्ति गायन के तौर पर शुरू किया.

और आज के समय मे अनिरुद्धाचार्य जी महाराज  यूट्यूब और बहुत सारे TV channel के माध्यम से लोगो के समक्ष भागवत कथा का प्रवचन करते है। और जहां अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का कथा वाचन होता है वहाँ  उनकी कथा को सुनने के लिए लोगो की काफी ज्यादा भीड़ उमड़ती है.

जिसके कारण लोगो को कथा वाचन के 5 से 6 घंटे पहले प्रवचन के स्थल पर पहुचना पड़ता है तभी भागवत कथा का आनंद ले पते है। लेकिन जो लोग वहां पर नहीं पहुंच पाते हैं उनके लिए यह प्रवचन टीवी पर प्रकाशित किया जाता है.

इसके अलावा यह प्रवचन Aniruddhacharya ji YouTube channel पर भी दिखाया जाता है.

हमारे अन्य आर्टिकल भी पड़ें

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के धार्मिक कार्य

दोस्तों Aniruddhacharya Ji अपने इस प्रवचन और भजन के माध्यम से लोगों को अपने धर्म के सिद्धांत और उनके विचारधरा के बारे में जानकारी देते हैं इसके अलावा वह लोगों को  परेशानियों को भी हल करते हैं.

और उनको मोह और लोभ से बाहर निकलने का उपाय बताते हैं  और लोगों के जीवन से जुड़ी सभी समस्याओं पर वे अपना विचार रखते हैं.

ऐसे में अनिरुद्धाचार्य जी महाराज हिंदू धर्म में निवास करने वाले लोगों को हमेशा धर्म के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं और हिंदू धर्म का जो भी धार्मिक मान्यता और  उनके पुरातन इतिहास बारे में लोगों को जानकारी देते हैं। और वे सभी लोगों को सही रास्ते पर चलने की सलाह देते हैं.

सभी हिंदू धर्म के लोग अपने धर्म से जुड़े हुए अच्छी बातों को अपने रोजमर्रा के जीवन में सम्मिलित कर सकें पंडित Aniruddhacharya Ji अपने कथा के माध्यम से लोगों को ईश्वर के प्रति समर्पित और भक्त होने की भी प्रेरणा देते हैं इसलिए उनका धार्मिक कार्य करने का क्षेत्र काफी उद्देश्य पूर्ण और व्यापक है.

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज फीस | Aniruddhacharya Ji Maharaj Fees

स्वामी अनिरुद्धाचार्य जी महाराज की बात करे तो वह आज के समय के जाने माने ओर पॉपुलर भगवाचार्य में से एक है, अनिरुद्धाचार्य जी महराज की एक दिन की फीस लाखो में होती है, ओर भागवत कथा की बात करे तो यह 7 दिनों की रहती है.

अगर दोस्तो किसी को भागवत कथा करानी रहती है तो उन्हें 2, 3 महीने पहले से ही बुक करना पड़ता है, ओर अगर भागवत कथा की फीस की बात की जाए तो अंदाजे से 3 से 5 लाख के करीब होती है, लेकिन आपको अनिरुद्धाचार्य जी महाराज की फीस के बारे में जानकारी चाहिए तो आपको संपर्क कर सकते है.

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • Shri Aniruddhacharya ji  ने अपना YouTube Channel अपने जन्मदिन के 2 दिन पश्यात Sep 29,  वर्ष 2017 को शुरू किया था.
  • Shri Aniruddhacharya ji अब तक 700 से भी ज्यादा कथाएं और प्रवचन देश विदेश में कर चुके है.
  • इन्होंने Gowri Gopal ashram बूढी माताओ के  हराने के लिए और उनको खाना-पीना देने के लिए शुरू किया है.
  • Aniruddhacharya ji की ज्यादातर कमाई वृद्ध माताओ की सेवा सत्कार करने में चली जाती है.
  • बचपन में Aniruddhacharya ji की छोटी बेहेन का देहांत हो गया था.
  • Shri Aniruddhacharya Maharaj की सबसे रोचक बात करें तो इनका परिवार पूरी तरह से धार्मिक क्षेत्रों में ही देखने को मिलता है Shri Aniruddhacharya ji में इसके पिता जी श्री अवधेशानंद गिरी भागवताचार्य है इसी के साथ Shri Aniruddhacharya ji  की पत्नी भी धार्मिक क्षेत्र में प्रवचन और कथा करती है.
  • Aniruddhacharya ji की सबसे बड़ी रोचक बात यह है कि आज के समय में लगभग आपको के हर जगह हर घर में कोई न कोई जगह आपको अनिरुद्धाचार्य जी महाराज की भजन  TV channel में, mobile phone में या फिर और माध्यम से आपको देखने को मिल ही जाएगा.
  • अनिरुद्धाचार्य जी महाराज कि सबसे रोचक बात यह है कि अभी के समय में सबसे जल्दी ख्याति प्राप्त करने वाले धार्मिक क्षेत्र में अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का नाम आता है.
  • अनिरुद्धाचार्य जी की और सबसे बड़ी रोचक बात यह है कि स्वामी अनिरुद्धाचार्य जी अपनी कमाई का ज्यादातर हिस्सा गौरी गोपाल वृद्धा आश्रम मे बूढ़े बुजुर्ग माताओं के लिए दान करते हैं इस गौरी गोपाल वृद्धाश्रम संस्था को अनिरुद्धाचार्य जी ने  वर्ष 2016 मे शुरू किया था.
  • Shri Aniruddhacharya ji की और सबसे बड़ी रोचक बात करें तो यह गाय और बैल के काफी ज्यादा प्रेमी है बचपन में जब छोटे थे तो Shri Aniruddhacharya ji  गाय को चराने के लिए चले जाते थे जिससे इनका लगाओ गायों मे और भी जादा बढ़ता गया और यह लगाओ आज भी देखा जाता है.

निष्कर्ष

आशा करते हैं दोस्त तो आपको हमारे द्वारा बताया गया Aniruddhacharya Ji Maharaj ( अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का जीवन परिचय ) से संबंधित आर्टिकल आपको पसंद आया होगा हमने आपको हमारे इस लेख के जरिए अनिरुद्ध आचार्य जी महाराज से जुड़ी हुई सभी छोटी-बड़ी बातों से अवगत कराया है और बताया है कि

Aniruddhacharya ji Maharaj Family, Aniruddhacharya Jii Maharaj Son, Wife, Age, And more, अनिरुद्धाचार्य जी की जन्मतिथि एवं उम्र, अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के बारे में कुछ रोचक तथ्य, अनिरुद्धाचार्य जी महाराज फीस | Aniruddhacharya Ji Maharaj Fees, आदि.

अगर आपको हमारे द्वारा बताई जानकारी पसंद आयी होतो अपने दोस्तो तक जरूर शेयर करे, अन्य ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारी पड़ने के लिए आपके अपने ब्लॉग को गूगल पर सर्च करे.

दोस्तों इस लेख से संबंधित आपके मन में कोई भी सवाल है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकते हैं, हम पूरी कोशिश करेंगे कि आपके द्वारा पूछे गए सभी सवालों का जवाब हम दे पाए.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top